Best Investment tips : Single premium policy इतनी लोकप्रिय क्यों हो रही है

Single premium policy

Single premium policy प्राइवेट कंपनियों में सिंगल प्रीमियम पॉलिसी पर बहुत अच्छा रिजल्ट सामने आया है। इसी वजह से इस पॉलिसी की डिमांड दिन प्रतिदिन और बढ़ती जा रही है। इससे निवेशक और कंपनी दोनों को कई फायदे हुए।

नमस्कार दोस्तों, कुछ समय से सिंगल प्रीमियम पॉलिसी काफी चर्चा में है। इसकी डिमांड लोगों में बहुत हो रही है। नौकरीपेशा लोग और बिजनेसमैन ज्यादातर इस पॉलिसी में इन्वेस्ट कर रहे हैं। सरकारी कंपनियों के बजाए प्राइवेट कंपनियों का बहुत अच्छा प्रदर्शन सिंगल प्रीमियम पॉलिसी पर देखने को मिल रहा है।

आपको बता दें कि हमारे देश में जीवन बीमा का बिज़नस तेज रफ्तार से आगे बढ़ रहा है। इंश्योरेंस कंपनियों द्वारा साल 2023 में इकट्ठा किया गया प्रीमियम में 20% का इजाफा देखने को मिला। जिस वजह से जीवन बीमा के कई पॉलिसियों की मांग बढ़ गई है। इसका फायदा प्राइवेट कंपनियों को भी खूब हो रहा है। आज के इस आर्टिकल में हम आपको सिंगल प्रीमियम पॉलिसी के बारे में बताएंगे। यह पॉलिसी क्या है और इसका फायदा आप कैसे उठा सकते हैं, इस पर विस्तार से जानेंगे। तो चलिए जानते हैं ..

 

.Single premium policy

Single premium policy क्यों बनी लोगों की पसंदीदा

जीवन बीमा में कई पॉलिसिया चल रही है, जिसमें सिंगल प्रीमियम पॉलिसी भी एक है। मौजूदा समय में यह पॉलिसी लोगों की पसंदीदा बनी हुई है। Single premium policy  विभिन्न प्रकार के क्षेत्र में काम कर रहे लोगों और बिजनेसमैन के द्वारा इस पॉलिसी को खूब तवज्जो दिया जा रहा है।Single premium policy जिन लोगों के पास पैसों की कमी होती है या फिर उन्हें पता होता है कि वह पॉलिसी में पैसा लगाना है या फिर नहीं, ऐसे लोग सिंगल प्रीमियम पॉलिसी को चुन रहे हैं। जिन लोगों के पास प्रीमियम भरने के लिए पर्याप्त रकम नहीं है उन लोगों द्वारा ही इस पॉलिसी को सिलेक्ट किया जा रहा है। इसी वजह से यह पॉलिसी लोकप्रिय बन गई है।

 

ये भी पढ़ें –Auto or active, NPS में निवेश करने के 2 दोनों ऑप्शन में से कौन है best

Single premium policy इसमें टैक्स पर छूट मिलती है या नहीं

सिंगल प्रीमियम पॉलिसी में टैक्स कटौती का सामना निवेशकों को करना पड़ता है। बता दें कि इनकम टैक्स सेक्शन 80c के तहत इस पॉलिसी में टैक्स कटता है। अगर आप इसमें 1.5 लाख रुपए का निवेश करते हैं तो इनकम टैक्स सेक्शन के तहत आपको छूट मिलती है। मगर इसका लाभ आप केवल एक बार ही उठा सकते हैं। आपकी पॉलिसी मैच्योर हो जाती है, उस दौरान जितनी राशि आपको मिलती है वह सेक्शन 10d के तहत टैक्स फ्री होती है।

तब आपकी राशि पर कोई टैक्स नहीं लगता। मगर आपको इन बातों का ध्यान रखना होगा कि अगर 1 अप्रैल 2023 आपके द्वारा जो non ulip पॉलिसी खरीदी गई है, इसमें भुगतान किया गया प्रीमियम 5 लाख रुपया से अधिक है तो आपको टैक्स में छूट नहीं मिलेगी। वहीं साल 2012 के बाद जारी हुई पॉलिसी पर आपको टैक्स से छुटकारा उस समय मिल सकता है,

जब इसमें जो राशि योगदान की गई है इसका प्रीमियम 10% से अधिक ना हो। इन दोनों स्थितियों में आपको सिंगल प्रीमियम पॉलिसी पर टैक्स से छुटकारा मिल सकता है। कई लोगों का कहना है कि इसमें टैक्स से मुक्ति नहीं मिलती लेकिन यह गलत है आप ध्यान से इस में इन्वेस्ट करें तो आपको टैक्स ही नहीं बल्कि अन्य कई तौर से भी फायदे मिलते हैं।

Single premium policy

Single premium policy लोगों को इसके क्या फायदे होंगे

अगर आप इस पॉलिसी को खरीदते हैं तो इसमें नियमित रूप से आपको भुगतान करने की जरूरत नहीं पड़ती है। बार-बार प्रीमियम का भुगतान करने की जगह पर आप केवल एक बार ही भुगतान कर देते हैं। Single premium policy पॉलिसी में आप एक बार एकमुश्त राशि का भुगतान करके जीवन भर के लिए कवरेज प्राप्त कर लेते हैं। यह लॉन्ग टर्म पॉलिसी है जिसमें निवेशकों को 10 साल से लेकर 15 साल तक प्रीमियम के भुगतान करने के झंझट से मुक्ति मिल जाती है। इस प्रकार आप सिंगल प्रीमियम पॉलिसी में इन्वेस्ट करके कई प्रकार के फायदे उठा सकते हैं। इसमें आपको किसी प्रकार की कोई टेंशन लेने की भी जरूरत नहीं पड़ती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *