RBI ने लोन लेने वालों को दी बड़ी खुशखबरी, बैंकों के लिए बनाया नया नियम

RBI ( Reserve bank of india )

Reserve Bank of India (RBI)  ने लोन लेने वाले ग्राहकों को एक बड़ी राहत दी है। लोन धारकों की चिंता को कम करने के लिए आरबीआई ने बैंकों को नीतिगत ढांचा बनाने के लिए कह दिया है।

बैंकों को हिदायत दी है कि लोन लेने वाले ग्राहकों को हर चीज अच्छे से समझाएं।

 

Reserve Bank of India (RBI) लोन लेने वालों की टेंशन हुई खत्म

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने लोन धारको को एक बहुत बड़ी सौगात दी है। जिन लोगों ने होम लोन या फिर अन्य कोई लोन ले रखा है तो यह खबर उनके लिए ही है । दरअसल आरबीआई ने सभी बैंकों और एनबीएफसी के लिए एक नया नियम लागू कर दिया है।

बैंक की तरफ से यह जानकारी ऑफिशियल कर दी गई है। उन्होंने अन्य संस्थानों के साथ-साथ बैंकों को यह हिदायत दी है कि नए सिरे से ब्याज की दरों को तय करते समय लोन धारकों को ब्याज की निश्चित दर चुनने के लिए ऑप्शन की पेशकश करें। इसके अतिरिक्त आरबीआई ने और क्या नए बदलाव या नियम बनाए हैं ,

उसके बारे में इस आर्टिकल में हम आपको विस्तार से बताएंगे। आपने भी अगर किसी प्रकार का लोन ले रखा है तो हमारा आज का यह लेख आपके फायदे के लिए है, इसे आखिर तक ध्यान से जरूर पढ़ें।

 

ये भी पढ़ें – Kidney Failure Symptoms : पेशाब में झाग बनना शरीर के लिए हो सकता है खतरनाक, ये संकेत दिखें तो हो जाए सचेत

 

RBI ने अपनी ऑफिशल वेबसाइट पर डाली नोटिफिकेशन

देश की सबसे बड़ी बैंक आरबीआई ने लोन धारकों को मुनाफा पहुंचाने के लिए बैंकों और एनबीएफसी के लिए नए नियम बनाए हैं , इसके बारे में उन्होंने अपनी ऑफिशल वेबसाइट पर एक नोटिफिकेशन डाली है।

जिसमें उन्होंने बैंकों और अन्य संस्थाओं से कहा है कि वह लोन ले रहे लोगों को एक निश्चित ब्याज चुनने का ऑप्शन दें। इसके अतिरिक्त ग्राहकों इस बारे में भी पूरी जानकारी दी जाए कि की समय अवधि पूरी ना हो जाने तक ऑप्शन चुनने का मौका उन्हें कितनी बार मिल सकता है। लोन धारकों को लोन के टेन्योर या ईएमआई के बढ़ाए जाने का विकल्प भी मिलना चाहिए।

आरबीआई की तरफ से यह भी कहा गया है कि लोन लेने वालों को समय से पहले या फिर आंशिक रूप से लोन के भुगतान करने का विकल्प भी दिया जाए।

 

टेन्योर बढ़ाने पर लोन लेने वालों को दे जानकारी

बैंक ने जो नोटिफिकेशन जारी की गई है, उसमें यह भी बताया गया है कि अक्सर यह देखने में आता है कि बैंक के द्वारा ब्याज दर बढ़ाए जाने पर ईएमआई और टेन्योर लोन ग्राहक को बिना बताए हुए बढ़ा दिए जाते हैं।

ना तो उनसे कोई अनुमति ली जाती है और ना ही उन्हें इसके बारे में कुछ बताया जाता है। लोन ग्राहकों की इस परेशानी को दूर करने के लिए आरबीआई ने एक नीतिगत ढांचा तैयार करने के लिए बैंकों और एनबीएफसी को कहा है।

आरबीआई ने साफ साफ कहा है कि लोन देते समय हर बैंक ग्राहकों को सीधे तौर पर बताएं कि मानक ब्याज दर में बदलाव होने की वजह से ईएमआई पर क्या प्रभाव पड़ सकता है। बैंक द्वारा जब भी ईएमआई या फिर टेन्योर को बढ़ाया जाए तो उसकी सूचना तुरंत लोन ग्राहक को दी जाए। जिस से आगे चलकर लोन लेने वालों को कोई दिक्कत नहीं आएगी।

 

जानकारी के लिए आपको बताते चलें कि समय-समय पर रिजर्व बैंक आफ इंडिया अपने ग्राहकों को मुनाफा पहचाने और उनके परेशानियों को दूर करने के लिए नए-नए कदम उठाती रहती है।

पिछले हफ्ते हुई मौद्रिक नीति समीक्षा में आरबीआई ने लोन लेने वाले ग्राहकों को फ्लोटिंग ब्याज दर से निश्चित ब्याज दर में विकल्प चुनने का ऑप्शन चुनने की अनुमति देने के लिए कहा था।

इसके बारे में बताते हुए रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया के गवर्नर शशिकांत दास ने बताया है कि इसके लिए नया ढांचा बनाया जा रहा है। जिसके तहत बैंकों से कर्ज लेने वाले लोगों को बैंकों की तरफ से पूरी जानकारी विस्तार में दी जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *