कम लागत पर ज्यादा रिटर्न, Quant Mutual Fund में बरस रहा है खूब पैसा, आप भी कमाएं मुनाफा

Quant Mutual Fund

Quant Mutual Fund क्वांट म्युचुअल फंड बहुत ही कम लागत में ज्यादा रिटर्न दे रहा है। इस फंड ने 3 साल में अपने ग्राहकों को 40 फ़ीसदी का मुनाफा दीया है। विभिन्न प्रकार की डेट आधार पर यह फंड शेयर्स को सेलेक्ट करता है। क्वांट कांड में मानवीय हस्तक्षेप ना के बराबर होती है।

नमस्कार दोस्तों, भारत के लोगों को धीरे धीरे क्वांट म्युचुअल फंड भाने लग गए हैं। अन्य म्यूच्यूअल फंड को साइड में करके वो इस में इन्वेस्ट करना पसंद कर रहे हैं। क्योंकि इसमें बेहतरीन रिटर्न मिल रहा है। इसकी खास बात यह है कि इसमें शेयर्स को सिलेक्ट करने के लिए मैनेजर की कोई खास भूमिका नहीं रहती है। बात करें विश्व 3 साल की तो इसमें कुछ क्वांट फंड्स ने निवेशकों को अच्छा रिटर्न दिया है।

आपको बता दें कि यह स्कीम इन्वेस्ट करने के लिए शेयर्स का फैसला कंप्यूटर सॉफ्टवेयर के जरिए से गणितीय आधार पर ही किया जाता है।

भले ही यह फोन कितना मुनाफा दे रहे हैं मगर फिर भी निवेशकों को उसमें इन्वेस्ट करने से पहले यह सोचना चाहिए कि म्यूचुअल फंड में फायदा होना जरूरी नहीं है । इसमें आपको नुकसान भी झेलना पड़ सकता है।

निपॉन इंडिया क्‍वांट फंड,क्‍वांट वैल्‍यू फंड, क्‍वांट ईएसजी इक्विटी फंड, डीएसपी क्‍वांट फंड और टाटा क्‍वांट फंड इस फंड में शामिल हैं। आज के इस लेख के जरिए हम आपके लिए लोकप्रिय हो रहे क्वांट म्युचुअल फंड के बारे में इंफॉर्मेशन लेकर आए हैं। इसमें हम आपको बताएंगे कि यह फंड क्या है और किस प्रकार से लोगों को लाभ दे रही है। अगर आप भी मिलकर फंड में निवेश करने की सोच रहे हैं तो हमारा यह आर्टिकल आखिर तक ध्यान से पढ़ें। तो आइए जानते हैं विस्तार से…

 

 Quant Mutual Fund निवेश से पहले इन बातों का रखें ध्यान 

निवेशकों को इक्विटी इन्वेस्टमेंट से बढ़िया और दमदार रिटर्न पाने लिए हमेशा होने दो प्रकार की सलाह मिलती है। इसमें पहली सलाह यह है कि कभी भी भावनाओं में बहकर इन्वेस्टर को इन्वेस्ट करने का फैसला जल्दबाजी में नहीं लेना चाहिए। और दूसरा निवेश का निर्णय केवल बातों को सुनकर ही नहीं बल्कि सही आंकड़े और तथ्यों पर आधारित ही करना चाहिए। यह उनके लिए ज्यादा बेहतर रहता है। आपको बता दें कि कहां थी। आपको बता दें कि म्युचुअल फंड शेयर्स को सिलेक्ट करने के लिए डेटाबेस अप्रोच का इस्तेमाल करती है। फाइंड हाउस अपने इन हाउस डिवाइस किए गए मॉडल को ही अपनाते हैं। इसमें price to back, growth valuation, earning, pe जैसी अन्य कई बातों को ध्यान में रखकर हीट शेयर चुनते हैं। इसलिए इस फंड स्कीम में मानवीय हस्तक्षेप कम होता है। जिस वजह से इसमें भावनाओं में बहकर शेयर्स की सिलेक्शन करने ओके बिल्कुल भी ना के बराबर ही रहता है।

 Quant Mutual Fund

निवेशकों को ये अकाउंट फंड दे रहे हैं को शानदार रिटर्न 

 

ज्यादा रिटर्न देने वाले फंड्स में क्वांट म्युचुअल फंड में शामिल हो गया है। अगर 15 मई 2023 तक के आंकड़ों को देखा जाए तो 3 साल में क्वांट वैल्यू फंड ने अपने निवेशकों को 43.50% का रिटर्न दिया है। वही 2 साल में फंड ने 13.23 फ़ीसदी और 1 साल में 15.41 फ़ीसदी रिटर्न अपने ग्राहकों को दीया। क्‍वांट ईएसजी इक्विटी फंड ने तीन साल में 40.2%, दो साल में 12.16 फीसदी और एक साल में 16.58% रिटर्न दिया है। इसके अलावा निपॉन इंडिया क्‍वांट फंड का तीन साल का रिटर्न 25.96 फीसदी रहा। दो साल का 13.52% और एक साल का 22.66% का रिटर्न रहा है। DSP क्‍वांट फंड ने तीन साल में 21.40 फीसदी, दो साल में 7.40 फीसदी और एक साल में 11.30 प्रतिशत का रिटर्न दिया था। Tata quant fund का रिटर्न तीन साल में 14.78 फीसदी, वही दो साल में 5.12 फीसदी और एक साल में 16.71% दीया।

 

क्वांट फंड के ये हैं बड़े फायदे

 

क्वांट फंड में निवेश करने से आपको बहुत लाभ मिलेगा। क्योंकि इसमें इन्वेस्ट करते समय लागत बहुत कम आती है। अन्‍य फंड्स में एक्सचेंज रेश्यो 1.25 से 2.50 फीसदी तक होता है। लेकिन क्वांट फंड में 0.5% का एक्सचेंज रेश्यो है। रिटर्न देने के मामले में भी यह फंड दूसरे म्युचुअल फंड्स पर भारी पड़ रहा है। आपको बता दें कि इस फंड में मैनेजर की ज्यादा भूमिका नहीं रहती है। यही कारण है कि इसमें फ्रंट रनिंग और इंसाइड ट्रेनिंग ऐसी गड़बड़ियां बहुत ही कम देखने को मिलती हैं। निवेशकों गोश्त में अच्छा मुनाफा होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *