OTT पर अश्लीलता फैलाने वालों पर होगी सख्त कार्रवाई

ANURAG THAKUR - OTT

ओटीटी (OTT )पर अश्लीलता और धर्म को तोड़ मरोड़ कर पेश करने वालों अब उनकी क्लास लगेगी।

मंगलवार को अनुराग ठाकुर ने ओटीटी के अधिकारियों के साथ एक अहम बैठक की। जिसमें सख्त हिदायत दी गई है कि जो भी धर्म या देश की संस्कृति को अपमान पहुंचाने वाले कंटेंट पेश करेगा , उस पर सख्त कार्रवाई होगी।

 

ओटीटी(OTT)  पर गलत कंटेंट फैलाने मिलेगी सजा

 

अक्सर ओटीटी पर रिलीज होने वाली वेब सीरीज और फिल्मों को लेकर चर्चाएं उठती रहती हैं। इसी के मद्देनजर उल्लू एप से भी कई वेब सीरीज को हटाने के निर्देश एक समिति द्वारा दिए गए थे। वही अब केंद्र सरकार ने ओटीटी पर भी नकेल कसने की हिदायत दे दी है।

सरकार ने अब साफ कह दिया है कि आजादी के नाम पर देश की सभ्यता के साथ हो रहे खिलवाड़ को बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

दरअसल मंगलवार को केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने ओटीटी अधिकारी के साथ एक बड़ी मीटिंग की। मीटिंग में अनुराग ठाकुर का ओटीपी के प्रति सख्त रवैया देखने को मिला। उन्होंने अधिकारियों से कह दिया कि अगर ओटीटी प्लेटफॉर्म पर इस प्रकार के कंटेंट्स हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई होगी।

anurag thakur - ott

 

OTT – धर्म के प्रति लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी

अनुराग ठाकुर मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ओटीटी प्लेटफॉर्म से स्पष्ट शब्दों में कहा गया है कि रचनात्मक के तौर पर जो लापरवाही की जा रही है, उसे अब बिल्कुल भी स्वीकार नहीं किया जाएगा। बताते चलें कि रेगुलेशन पर ध्यान बढ़ाने के मकसद से ही यह मीटिंग आयोजित की गई थी।

इस मौके पर अनुराग ठाकुर ने ओटीटी पर लगातार बढ़ रही अश्लीलता, भारतीय परंपराओं, धर्म और रिवाजों, गैरजरूरी कॉन्टेंट और नकारात्मक चित्रण जैसे कंटेंट पर चिंता व्यक्त की।

टॉप एग्जीक्यूटिव के साथ हुई बैठक में अनुराग ठाकुर ने कई विषयों पर सवाल उठाए और कहा कि ओटीटी प्लेटफॉर्म अपने ऐप पर दिखाई जाने वाली वेब सीरीज और फिल्मों का खास ध्यान रखें। इसके अलावा मंत्री ने यह भी कहा कि भारतीय संस्कृति के साथ खिलवाड़ किए जा रहे को कंटेंट बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

 

ये भी पढ़ें – बाढ़ पीड़ितों के लिए मसीहा बने Randeep Hooda , खुद बांट रहे हैं राशन

 

छोटे शहरों के टैलेंट को दुनिया तक पहुंचाने पर की तारीफ

एक तरफ जहां ऑडिटी पर भारतीय संस्कृति पर गलत तरह से फिल्में पेश किए जाने पर केंद्रीय मंत्री ने चिंता व्यक्त की तो वहीं उन्होंने ओटीटी पर जो बदलाव आया है, उसकी तारीफ भी की है। उन्होंने कहा है कि क्षेत्रीय फिल्में और सीरीज को वर्ल्ड लेवल तक पहुंचाने और नए टैलेंट को मौका देने के लिए पॉजिटिव प्लेटफार्म को सराहा भी है।

 

समाधान के लिए दिया इतना टाइम

 

अनुराग ठाकुर ने ओटीटी प्लेटफॉर्म के एक्जीक्यूटिव को सख्त हिदायत दी है कि इसके समाधान के लिए उनके पास 15 दिन का वक्त। विभिन्न प्रकार के आयु वर्ग के दर्शकों के लिए विभिन्न कंटेंट के अलावा अन्य कई चीजों पर चर्चा हुई।

यह भी कहा गया कि जैसे ही किसी फिल्म या वेब सीरीज को लेकर शिकायत मिलती है तो उसके लिए तुरंत समाधान निकाला जाए। इसके अतिरिक्त वेब सीरीज में जो भारत का नक्शा दिखाया जाता है या फिर डिजिटल चोरी से किस प्रकार से बचना है इन सब बातों पर भी मीटिंग में अनुराग ठाकुर ने ऑडिटी के एग्जीक्यूटिव से बात की।

बहरहाल बढ़ रही अश्लीलता और धर्म के खिलाफ गलत कंटेंट पेश करने पर इसके समाधान के लिए ओटीटी को 15 दिन का अल्टीमेटम मिला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *