New vs Old Tax Regime में जल्दी होगे सेलेक्शन जाने डिटेल्स

New vs Old Tax Regime में जल्दी होगे सेलेक्शन जाने डिटेल्स

New Vs Old Tax Regime  आयकर विभाग या Income Tax के लिए New Year चालू गया है। जिसके साथ ही Income Tax बचाने और टैक्स डिक्लरेशन के लिए भी ऑफिस से मेल आना चालू हो जाता है। ये मेल होगा Income Tax Regime के बारे में। ऑफिस ने पूछना चालू हो जाता है कि ये वर्ष  ये किस व्यवस्था के तहत रह सकते है ,

The new tax regime has been made attractive

2024 -25 के बजट प्रस्ताव में ही केंद्र सरकार ने New Income Tax Regime को थोड़ा प्रभावित किया है।  जिसमे   Tax Rebate In New Tax Regime को बढ़ाया जाता है। ये यह सीमा दो लाख रुपये की हो चुकी है। मतलब कि अब यदि कोई टैक्स पेयर नई Tax Regime चुनता है तो उसे 5 लाख रुपये की जगह 7 लाख रुपये तक की सालाना आमदनी पर कोई इनकम टैक्स नहीं दनेा होगा इस तरह, जिनकी कुल सालाना आमदनी 7.5 लाख रुपये है, हर वर्ष  New Tax Regime चुनकर टैक्स फ्री करवाना पड़ता है

Vi और Jio का मार्केट होगा बंद BSNL यूजर्स की हुई मौज बड़ा दी अपने प्लान की वेलिडिटी जाने डिटेल्स

what is in the old system

आयकर की पुरानी व्यवस्था यानी Old Tax Regime में Income Tax से फ्री  होने की सालाना आय सीमा 5.50 लाख रुपये ही है। यदि और अपनी कर योग्य आमदनी 5.50 लाख रुपये तक ले जाता है, तो उसका Income Tax जीरो हो जाएगा।

Choose old tax regime or new tax regime

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इसे आकर्षक बनाने के लिए स्टैंडर्ड डिडक्शन का तोहफा दिया था। साथ ही  Tax Rebate की सीमा को भी बढ़ कर दो लाख रुपये तक दिया जाता है। जहां तक ओल्ड रिजीम की बात है तो उसे ज्यों का त्यों छोड़ दिया गया था। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या New Tax Regime जबरदस्त है? क्या पुरानी व्यवस्था को by by बोल दिया जायेगा  जिसका  एक सामान्य जवाब नहीं हो सकेगा।

If you earn up to Rs 7.5 lakh then which one is better?

कोई व्यक्ति वर्ष भर में 7.50 लाख रुपये तक कमा सकता है और एक पैसे का भी खर्चा नहीं करता है तो इनके लिए नई व्यवस्था ही ठीक है। ऐसे व्यक्ति न्यू टैक्स रिजीम को New Tax Regime में एक पैसा भी Income Tax नहीं दिया जाता है। जिसकी उलट उन्हें पुरानी व्यवस्था में जीरो टैक्स करने के लिए कम से कम दो लाख रुपये का खर्चा करना होगा।

Zero tax on income up to Rs 10 lakh in the old system

यदि कोई करदाता पुराने Tax Regime को चुनता है तो वह वर्ष में 10 लाख रुपये की कमाई पर भी पूरा का पूरा टैक्स बचा सकते है। ये 50 हजार रुपये का लाभ स्टेंडर्ड डिडक्शन में ले सकता है, डेढ़ लाख रुपये का लाभ 80c में ले लेगा, 2 लाख रुपये तक का टैक्स छूट होम लोन के इंटरेस्ट पेमेंट या HRA के मदद में ले सकता है और 50 हजार रुपये पर टैक्स छूट NPS .में नइवेस्ट कर ले सकता है। यदि अपने बूढ़े माता-पिता के मेडिकल इंश्योरेंस पर भी वह 80 हजार रुपये तक बचा सकता है।

फौलादी इंजन और टनाटन फीचर्स के साथ लेगी मार्केट में एंट्री Mahindra Bolero की धासु कार

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *